Vitamin C in Hindi : विटामिन सी के स्त्रोत और फायदे

Written by Oye Zindagi Team

Updated on:

शारीरिक स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी का सेवन बहुत जरूरी होता है इसलिए आज हम Vitamin C in Hindi और Vitamin C Benefits के बारे में जानेंगे। 

विटामिन सी शरीर को बेहतर बनाने के साथ-साथ त्वचा और वजन कम करने जैसे बाहरी फायदों के लिए भी उपयोगी होता है। विटामिन सी की कमी कई बीमारियों का कारण बन सकती है, जैसे मोतियाबिंद, त्वचा संबंधी समस्याएं, रक्ताल्पता आदि।

विटामिन सी की खुराक कुछ खाद्य पदार्थों में होती है, जिनका सेवन करके शरीर को विटामिन सी मिलता है। यह पदार्थ नींबू, आमला, गुआवा, सेब, अंगूर, तरबूज, संतरा आदि होते हैं। इन खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन शरीर को विटामिन सी की पूर्ति करता है और बीमारियों से बचाता है।

Vitamin C मानव शरीर के लिए लाभकारी एवं पोषक तत्व माना जाता है यह तत्व मानव शरीर के अन्दर होने वाले कई रासायनिक घटको में सहयोग करता है और हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

विटामिन सी किसे कहते है?

विटामिन सी को Ascorbic acid या L-ascorbic acid के नाम से भी जाना जाता है। यह एक प्रकार का पोषक तत्व है जो हमे खाद्य प्रदार्थ से मिलता है और इसका इस्तेमाल हम dietary supplement के रूप में करते है। 

यह मानव एवं पशु प्रजातियों के लिए बहुत ही आवश्यक पोषक तत्व है जो हमारे शरीर में उत्पन्न नहीं होता। इस पोषक तत्व के लिए हम खाद्य प्रदार्थ की सहायता लेते है। Vitamin C की खोज सर्वप्रथम 1912 में की गयी थी एवं इसे अलग 1928 में किया गया और वैज्ञानिको के अथक प्रयास के बाद 1933 में इसे पहली बार बनाया गया।

Vitamin C in Hindi : Food & Benefits

विटामिन सी हमारे बॉडी को हेल्थी रखने के लिए बहुत अहम भूमिका निभाता है। यह न केवल हमें अनेक बीमारियों से बचाता है बल्कि हमारे बॉडी और स्किन को glowing बनाने में भी मदद करता है। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि कौन से फल विटामिन सी का अच्छा सोर्स हैं।

खट्टे फल (Citrus fruits) – संतरा और नींबू जैसे खट्टे फल में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है। इसलिए इंसान को हर दिन एक संतरा या एक नींबू का सेवन करना चाहिए। संतरा आपको सुखी खांसी, जुकाम, बवासीर, कैंसर जैसी बीमारियों से बचाता है।

हरी मिर्च (Green chilli) – हरी मिर्च में विटामिन सी का अच्छा सोर्स होता है। साथ ही यह एंटी-ऑक्सीडेंट, खनिज और विटामिन ई का एक बड़ा स्रोत होता है। यह इंसान को कैंसर जैसी बीमारियों से बचाता है और इसे खाने से स्किन भी अच्छी तरह से रहती है।

आंवला (Amla) – आंवला एक ऐसा फल है जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें Vitamin-C होता है जो हमारे आंखों की रौशनी बढ़ाने के साथ-साथ हमारी त्वचा के लिए भी बहुत उपयोगी होता है। आंवले को खाने से हमारी त्वचा की झुर्रियां कम होती हैं और उसे ग्लोइंग बनाने में मदद मिलती है।

ब्रोक्कोली (Broccoli) – ब्रोक्कोली भी एक बहुत ही स्वस्थ फल है जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें भी Vitamin-C होता है जो हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में मदद करता है। आप इसे सलाद में मिला कर खा सकते हैं।

स्ट्रॉबेरी (Strawberries) – स्ट्रॉबेरी भी एक फल है जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन सी होता है जो हमारे शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। यह आपके दैनिक खाने की विटामिन सी की कमी को भी पूरा करता है। इससे आप दिनभर ऊर्जावान और काम में अधिक सक्रिय रहेंगे।

ये भी पढ़े : विटामिन डी: स्त्रोत और फायदे 

हमारी आंखों को भी विटामिन सी की आवश्यकता होती है जिससे आंखों को सूर्य की रौशनी और यूवी रेज से लड़ने की शक्ति मिलती है। साथ ही यह हमें मोतियाबिंद जैसी बीमारियों से भी बचाता है। स्ट्रॉबेरी का सेवन करने से या इसे चेहरे पर लगाने से चेहरे की wrinkles भी दूर होती हैं।

पपीता (papaya) – पपीते में विटामिन सी के साथ कई ऐसे न्यूट्रिएंट होते हैं जो हमारे बॉडी में खून की कमी को पूरा करते हैं। पके हुए पपीते का सेवन करने से खून की कमी (एनीमिया) दूर होती है और साथ ही कब्ज, कोलेस्ट्रॉल आदि समस्याओं से भी निजात मिलती है। पके हुए पपीते से फेस का मसाज करने से चेहरा चमकता है।

अमरूद (guava) – इसमें विटामिन सी अधिक मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा, इसमें विटामिन ए, विटामिन बी, आयरन और फास्फोरस भी होते हैं। अमरूद दांतों से जुड़ी सभी समस्याओं के लिए काफी फायदेमंद होता है।

ये भी पढ़े : पानी पीने के फायदे

फूलगोभी (Cauliflower) – फूलगोभीमें भी vitamin-c ज्यादा मात्रा में पाया जाता है। कब्ज़ होने पर रात को फूलगोभी का रस बना कर पीने से सुबह पेट साफ हो जाता है। इसके अलावा, फूलगोभी क्षय रोग, चर्म रोग, बालों से जुड़ी समस्याएं आदि को खत्म करने में मददगार होता है। फूलगोभी के रस को अगर नियमित रूप से शरीर पर होने वाले तिल पर लगाया जाएँ तो तिल धीरे-धीरे गायब होता जाता है।

इसके अलावा, मार्केट या नजदीकी मेडिकल स्टोर में विटामिन सी टेबलेट भी उपलब्ध हैं, परन्तु अच्छा यही रहेगा कि आप प्राकृतिक फलों का सेवन करें ताकि आपको अच्छा परिणाम मिलें।

Vitamin C की कमी से होने वाली परेशानियां

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हमें विभिन्न पोष्टिक तत्व की आवश्यकता होती है, जिनमें अगर किसी भी तत्व की कमी होती है तो हमारे शरीर में विभिन्न समस्याएं पनपने लगती है। इन्ही तत्वों में विटामिन सी भी शामिल है जिसकी कमी से शरीर में विभिन्न परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 

इसलिए अभी हम विटामिन सी की कमी से होनी वाली समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, जो इस प्रकार है : 

  • विटामिन सी की कमी से आँखों में मोतियाबिन्द की समस्या उत्पन हो सकती है।
  • भोजन के द्वारा शरीर को मिलने वाले पोषक तत्व की कमी होना। 
  • विटामिन सी की कमी से मनुष्य का स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है।
  • अगर आपके शरीर में विटामिन सी की कमी होती है तो आपके शरीर में किसी घाव या अन्य माध्यम से खून का बहना अधिक होगा।
  • Vitamin C की कमी से मसूड़ों में खून व मवाद का रिसाव हो सकता है।
  • Vitamin C की कमी शरीर में रक्त विकार को उत्पन्न करता है।
  • अगर आपके शरीर में विटामिन सी की कमी है तो आपके मुंह से बदबू आने की समस्या हो सकती है।
  • पाचन क्रिया में दोष उत्पन्न होना विटामिन सी की कमी की पहचान है। 
  • Vitamin C की कमी से मनुष्य को भूख नहीं लगती |
  • अगर आप चर्म रोग समस्या से ग्रषित है तो इसका मतलब है आपके शरीर में Vitamin C की कमी है।
  • Vitamin C की कमी से शरीर में Anemia का खतरा अधिक बढ़ जाता है।

हमें उम्मीद है कि आपको “Vitamin C in Hindi” पर हिंदी में लेख पढ़कर विटामिन सी के स्रोत और लाभों को समझने में मदद मिली होगी।

Leave a Comment