ब्रेन ट्यूमर (Brain Tumor) : प्रकार, लक्षण, कारण एंव उपचार

Written by Oye Zindagi Team

Updated on:

ब्रेन ट्यूमर (Brain Tumor) एक गंभीर समस्या है जो अक्सर लोगों को सतर्क नहीं करती है। इसलिए, इस समस्या के बारे में जानना जरूरी होता है ताकि इसके संभव लक्षणों का पता लगाया जा सके और समय रहते उचित इलाज किया जा सके। 

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि ब्रेन ट्यूमर क्या है (Brain Tumor in Hindi), इसके लक्षण (Brain Tumor Symptoms in Hindi), कारण (Brain Tumor Causes in Hindi) और उपचार (Brain Tumor Treatment in Hindi) के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। इसलिए, यह लेख उन सभी लोगों के लिए महत्वपूर्ण है जो ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित हो सकते हैं।

हमारे शरीर की हर एक गतिविधि को यह निर्देशित करते रहता है। यदि दिमाग में ही कोई समस्या हो जाये तो सोचिये हमारे शरीर की स्थिति क्या हो सकती है। क्योंकि सारा काम हमारे ब्रेन के ऊपर ही निर्भर रहता है। यदि किसी के सर में दर्द रहता है, और हमेशा ही बना रहता है तो यह बात बहुत ही चिंता का विषय हो सकता है। 

क्योंकि आम सा लगने वाला दर्द कहीं Brain tumor न हो। इसीलिए इसके बारे में जानते है की आखिर ब्रेन ट्यूमर क्या है?

Brain Tumor in Hindi / ब्रेन ट्यूमर क्या है?

ब्रेन ट्यूमर (Brain Tumour) में असामान्य कोशिका का एक संग्रह है। जो स्कल के द्वारा घिरा रहता है, एवं स्कल काफी कठोर होता है। अगर वहाँ पर कोई बदलाव यानी कोई वृद्धि नज़र आये तो समझ जाइए की कोई दिक्कत की परिस्थिति खड़ी हो सकती है। ब्रेन के ट्यूमर को दो श्रेणी में बांटा गया है, 

  • प्राथमिक ब्रेन ट्यूमर
  • माध्यमिक ब्रेन ट्यूमर

प्राथमिक मस्तिष्क में ट्यूमर काफी सौम्य होता है एवं माध्यमिक ट्यूमर तब बनता है जब कैंसर की कोशिका ब्रेन के अन्य हिस्से से फैल कर कहीं दुसरे अंग में चली जाए। तब जो स्थिति उत्पन्न होती है काफी चिंताजनक बन जाती है।

जब मस्तिष्क में ट्यूमर बढ़ता है (जो मस्तिष्क से उत्पन्न होता है), तो यह काफी गंभीर होता है। संयुक्त राज्य अमेरिका में हर साल 1 लाख लोगों में से केवल 5 लोगों को Brain Tumor होता है इसके साथ ही संयुक्त राज्य अमेरिका में हर साल 15 साल की आयु से कम वाले लगभग 4,100 बच्चों में Brain Tumor का पता चलता है।

Types of Brain Tumour / ब्रेन ट्यूमर के प्रकार

अगर देखा जाये तो ब्रेन ट्यूमर मुख्यत: दो प्रकार के होते हैं, इसकी अधिक जानकारी आपको नीचे दी गयी है:

1) Tumour without cancer cell : इस तरह के ट्यूमर जो होते हैं उनके बढ़ने की गति काफी slow होती है। यदि इसका इलाज समय रहते करवा लिया जाए तो इसके बढ़ने की सम्भावना कम हो जाती है। 

2) Tumour with cancer cell : इस तरह के कैंसर ब्रेन से शुरू होता है और इसके बाद यह ब्रेन के अन्य भागों में फैल जाता है। अगर इसका उपचार आपने करवा लिया है तो इसके बढ़ने की आशंका बनी रहती है।

Brain Tumor Symptoms in Hindi / ब्रेन ट्यूमर के लक्षण

अगर ध्यान से देखा जाये तो Brain Tumor के लक्षण को पहचाना जा सकता है और समय रहते इसका इलाज काफी हद तक संभव भी है। आइये जानते है इस disease को समय रहते कैसे पहचान करें:

  • यदि किसी के सर में हमेशा दर्द बना रहता हो। 
  • अगर चलते चलते पैर लडखडा जाये। 
  • Memory loss की समस्या हो रही हो (यह भी जाने की कैसे आप दिमाग तेज कर सकते हैं इन आसन उपायों से) 
  • स्वाभाव में चिडचिडापन और अचानक से mood swing हो। 
  • चेहरे के किसी भाग में कमजोरी जैसा महसूस होना। 

इन सारे लक्षणों के अलावा कुछ विशिष्ट लक्षण है जो इससे जुड़े हुए हैं वो इस तरह है।

  • ट्यूमर के करीब अगर दबाव या सरदर्द सा महसूस होना।  
  • अगर आपको अपने प्रतिदिन के काम करने में परेशानी का सामना करने पड़े। 
  • कभी कभी आँखों से धुंधला दिखाई पड़ना।
  • बातों को समझने में कठिनाई जैसा महसूस होना।

Brain Tumour Causes in Hindi / ब्रेन ट्यूमर के कारण

ब्रेन ट्यूमर (Brain Tumor) होने के बहुत सारे कारण हो सकते है, उन कारणों के बारे में पता लगते हैं जी की इस प्रकार हैं:

यह किसी विशेष तरह के virus के इन्फेक्शन से होता है।

साँस लेने के दौरान अगर किसी भी प्रदुषित चीजों का Respiratory System में प्रवेश होता है तो यह ब्रेन ट्यूमर (Brain Tumor) के होने की आशंका को बढ़ा सकता है। – यदि आपके परिवार में किसी भी सदस्य को कभी भी Brain Tumour की समस्या हुई हो तो यह समस्या अन्य सदस्य को __ भी हो सकता है।

अगर किसी रोगी को ब्लड कैंसर की समस्या है तो उन्हें ब्रेन ट्यूमर (Brain Tumor) की बीमारी होने की संभावना बढ़ सकती है।

जानकारी के अनुसार Brain Tumour दिमाग में बनने वाली गाँठ होती है जो कैंसर या non cancer भी हो सकती है। अगर किसी तरह से उपर्युक्त समस्या से गुजरना पड़ रहा है तो आप इसे नज़रअंदाज बिलकुल भी ना करे, क्योंकि ऐसा करना बहुत बड़ी बेवकूफी साबित हो सकती है।

Brain Tumour Treatment in Hindi / ब्रेन ट्यूमर का इलाज

आधुनिक उपकरणों के मदद से बहुत सारी लाइलाज बीमारी भी ठीक की जा सकती है। इसलिए घबराना छोड़ कर किसी अच्छे चिकित्सक से संपर्क साधे । ऐसा करने से सही वक़्त पे आपको सही इलाज़ मिल सकता है | Medical science का फील्ड दिन प्रतिदिन नए नए Technology के माध्यम से प्रगति की तरफ गतिशील हो रहा है। आज बहुत सारे नए तकनीक आ गए है जिसकी सहायता से आप ब्रेन ट्यूमर (Brain Tumor) को ठीक कर सकते है।

  1. यदि रोगी का Tumour Grade 1 में हो तो Surgery से ब्रेन ट्यूमर (Brain Tumor) की समस्या को हल कर सकते हैं, इस अवस्था में सर्जरी से उस ट्यूमर को बाहर निकला जाता है। 
  2. अगर ट्यूमर को सर्जरी से बाहर न निकाला जा सके, तो उस situation में Tumour के आकर में कमी लायी जा सकती है
  3. कभी कभी स्थिति ऐसी हो सकती है की अगर रोगी सर्जरी करवाता है, और ट्यूमर पूरी तरह से बाहर नहीं निकल पाता हो तो उस वक़्त Radiation therapy की सहायता से उस बची हुई कोशिका को हटा सकते है। 
  4. एक अलग प्रक्रिया है किमोथरेपी जिसके प्रयोग से कैंसर की कोशिका को ख़त्म किया जा सकता है। 
  5. कैंसर को ख़त्म करने के लिए कीमोथेरेपी की दवा ली जाती है जिसके सेवन से इस बीमारी को ठीक किया जा सकता है। इस दवा को आप मुंह के द्वारा ले सकते हैं या आप इसे intra veins infusion भी करवा सकते हैं।

अन्य कैंसर की जानकारी : 

 

8 thoughts on “ब्रेन ट्यूमर (Brain Tumor) : प्रकार, लक्षण, कारण एंव उपचार”

  1. Hey there! Do you know if they make any plugins to assist with
    Search Engine Optimization? I’m trying to get my blog to rank for some targeted keywords but I’m not seeing
    very good results. If you know of any please share. Thank you!
    You can read similar art here: E-commerce

    Reply

Leave a Comment